कई सर्वे के बाद कांग्रेस ने इतनी सीटों के लिए बनाया प्लान, वॉर रूम के अंदर की पूरी डिटेल जानिए

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

newstak
social share
google news

Congress Party Plan for Election: कांग्रेस पार्टी 2024 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी के रथ का मुकाबला करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. पार्टी ने कई वॉर रूम बनाने से लेकर कई टीमें तैयार कर देश भर में अपने बड़े कैडर को तैनात कर चुनाव में कोई कसर नहीं छोड़ने के मूड में है. पिछले दो आम चुनावों में मात खाने के बाद विपक्षी दल में निराशा का माहौल है लेकिन इस बार पार्टी का अभियान नरेंद्र मोदी के अभियान को डीरेल करना और माइक्रोमैनेजमेंट, डोर-टू-डोर मैसेजिंग, जन संपर्क कार्यक्रमों के माध्यम से बीजेपी के प्रचार अभियान को विफल करने में लगा हुआ है. आइए कांग्रेस पार्टी के इस गुरिल्ला युद्ध रणनीति पर करीब से समझते हैं. 

तीन बड़े चेहरों पर है दाव 

कांग्रेस पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने तीन प्रमुख नेताओं पर पूरा दाव लगाए हुए है. पार्टी अपने तीन बड़े नेताओं- मल्लिकार्जुन खड़गे, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के लिए 19 अप्रैल से शुरू होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए लगभग 125 रैलियों की योजना बनाए हुए है. पार्टी का मुख्यालय तो शांत और सुनसान है लेकिन सारा काम पर्दे के पीछे से चल रहा है. पार्टी ने चुनाव के लिए रणनीतियों, विचारों और निर्देशों पर मंथन करने के लिए विभिन्न स्तरों पर वॉर रूम बनाए हुए है. इन तीनों नेताओं के लिए स्पेशल रणनीति बनाने के पीछे की वजह ये है कि, तीनों नेताओं ने कर्नाटक के विधानसभा चुनाव में अच्छा काम किया और पार्टी राज्य में आराम से चुनाव जीत गई. पार्टी उसी रणनीति पर एकबार फिर से काम कर रही है. 

170 सीटों पर है कांग्रेस का फोकस 

कांग्रेस पार्टी देश की 543 लोकसभा सीटों पर अपनी ताकत लगाने के बजाय पार्टी के इलेक्शन मशीनरी के चयनित 170 सीटों पर ध्यान केंद्रित कर रही है. कांग्रेस के एक सीनियर नेता ने इंडिया टुडे को बताया कि, 'हमने जीतने योग्य सीटों की सूची बनाने के लिए कई सर्वे किए हैं और जमीनी डेटा इकट्ठा किया है उसी आधार पर सीटों का चयन किया गया है. उन्होंने बताया कि, इन सीटों पर या तो कांग्रेस पार्टी को पिछले चुनावों में जीत मिली है या इनपर मजबूत सत्ता विरोधी भावनाएं है.'

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

कांग्रेस नेता ने बताया कि, इन सभी सीटों पर 'माइक्रो वॉर रूम' बनाए गए है और लोकल स्तर पर अभियान का समन्वयन किया जा रहा है. पार्टी की रणनीति से वाकिफ एक वरिष्ठ नेता ने कहा, 'हमने वरिष्ठ नेताओं को भी इस काम पर लगाया है और लगभग पांच सौ बीस समन्वयकों के माध्यम से हम स्थानीय स्तर पर अपने उम्मीदवारों के अभियान पर नजर रखने की कोशिश कर रहे हैं.' उन्होंने बताया कि, इन सीटों पर उम्मीदवारों की मदद के लिए रेगुलर स्तर पर टीमों का गठन किया गया है. वहीं पार्टी के महासचिव केसी वेणुगोपाल स्थानीय टीमों को रणनीति बनाने में मदद करने के लिए साप्ताहिक जूम बैठकें आयोजित कर रहे हैं. 

चुनाव के लिए बना है वॉर रूम 

कांग्रेस पार्टी के बहुस्तरीय अभियान को विभिन्न समूहों में विभाजित किया गया है जो लुटियंस दिल्ली के कई स्टेशन से ऑपरेटे होते है. दिनभर के क्रियाकलाप की योजना बनाने और क्राइसिस मैनेजमेंट के लिए पार्टी नेताओं के साथ वॉर रूम में रोज सुबह बैठकें आयोजित की जाती है. इन वॉर रूम में पार्टी के वरिष्ठ नेता कमान संभालते हैं. जैसे प्रचार वाररूम 11 जो तालकटोरा रोड पर है में पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल और अजय माकन रहते हैं. पार्टि के तीन बड़े नामों के सभी कार्यक्रम, रैलियां और अभियान रकाबगंज गुरुद्वारा के पास स्थित स्टेशन से तैयार किए जा रहे है. इसमें रणदीप सुरजेवाला और मनीष छत्रत रहते हैं. 

इसी तरह सोशल मीडिया वॉर रूम की प्रमुख सुप्रिया श्रीनेत हैं, जिनकी टीम पार्टी के डेली डिजिटल अभियान की योजना बनाती है. पार्टी का मीडिया विंग राजेश पायलट मार्ग से चलाए जा रहे है और सभी अखबारों और चैनलों में कवरेज पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है. 

दिलचस्प बात यह है कि, पार्टी ने लक्षित सभी सीटों के बूथों का विस्तृत डेटा तैयार कर लिया है और जिन राज्यों में कांग्रेस संगठन मजबूत है या जहां कांग्रेस की सरकारें हैं, वहां लगभग नब्बे फीसदी मैपिंग का काम पूरा हो चुका है. कांग्रेस इस बार अपनी ताकत बढ़ाने और अपनी कमजोरी को कम करने के लिए प्रयास कर रही है ताकि 2024 के इस मेगा चुनाव में बीजेपी के रथ को रोका जा सके. 

ADVERTISEMENT

रिपोर्ट- मौसमी सिंह 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT