राजस्थान में 3 मंत्रियों वाला प्लान, कमल ही बीजेपी का चेहरा! वसुंधरा राजे के लिए अब साफ है संदेश

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

वसुंधरा राजे, नरेंद्र मोदी
वसुंधरा राजे, नरेंद्र मोदी
social share
google news

पिछले दिनों बीजेपी ने मध्य प्रदेश चुनाव में केंद्रीय मंत्रियों, सांसदों को टिकट देकर सबको चौंका दिया. अब राजस्थान में भी कुछ ऐसा करने की तैयारी है. ऐसी चर्चा है कि बीजेपी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में केंद्रीय मंत्रियों गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुन राम मेघवाल और कैलाश चौधरी को राजस्थान विधानसभा चुनाव लड़ने पर सहमति बनी है. इस बीच पीएम ने चित्तौड़गढ़ की सभा में फिर कह दिया है कि राजस्थान चुनाव में हमारा एक ही चेहरा है और वह है कमल. इन बातों के सियासी मायने क्या हैं?

हालिया ओपनियन पोल में राजस्थान में कांटे की लड़ाई के संकेत दिख रहे हैं. टाइम्स नाउ नवभारत और ETG के ओपिनियन पोल में दोनों पार्टियों को करीब 42 फीसदी वोट मिल रहे हैं. 200 सीटों में BJP को 95-105 और कांग्रेस को 91 से 101 सीटें मिलने का अनुमान है. यानी साफ है कि चुनाव किसी ओर झुक सकता है. राजस्थान में बीजेपी को अंदरूनी खींचतान भी परेशान कर रही है. वसुंधरा गुट, राजेंद्र राठौड़ का गुट, सतीश पुनिया का गुट… ऐसी चर्चाएं बीजेपी को परेशान कर रही हैं. बीजेपी ने तीन मंत्रियों को लड़ाने वाला प्लान और चुनाव में अपना चेहरा चुनाव चिह्न कमल बताने की रणनीति इसे ही देख कर बनाई है.

बीजेपी ने वसुंधरा समेत सारे खेमों को साफ कर दिया है कि चुनाव सामूहिक नेतृत्व में होंगे. चेहरा कोई होगा, तो सिर्फ पीएम मोदी का. यही वजह है कि पीएम मोदी अपनी चुनावी रैलियों में अब साफ शब्दों में इस बात पर जोर दे रहे हैं कि राजस्थान में बीजेपी का चेहरा कमल का फूल है. केंद्रीय मंत्री और राजस्थान बीजेपी के दिग्गज चेहरे अगर चुनाव में उतरते हैं, तो संदेश जाएगा कि पार्टी जीत के लिए हर कोशिश कर रही है.

यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT