सुब्रत रॉय कैसे नमकीन बेचते-बेचते बने अरबों के सहारा ग्रुप के मालिक और अंत में पहुंच गए जेल।

NewsTak

ADVERTISEMENT

सुब्रत रॉय कैसे नमकीन बेचते-बेचते बने अरबों के सहारा ग्रुप के मालिक और अंत में पहुंच गए जेल।

social share
google news

सहारा ग्रुप के मालिक सुब्रत रॉय ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया है। 75 साल की उम्र में मुंबई के अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। सुब्रत रॉय की जिंदगी काफी उतार-चढ़ाव वाली रही, एक ऐसा सफर जिया जहां पर संघर्ष देखा, सफलता की पराकाष्ठा देखी और फिर जेल यात्रा भी करनी पड़ गई। यानी कि एक ऐसा उद्योगपति जिसने फर्श से अर्श और फिर बाद में विवादों की वजह से फिर अर्श से फर्श तक का सफर तय किया। स्कूटर पर नमकीन बेचने वाला उद्योगपति कैसे बना अरबों की सहारा कंपनी का मालिक, सुब्रत रॉय के बारे में विस्तार से इस वीडियो में बात करेंगे…

Sahara Group owner Subrata Roy has said goodbye to this world. He breathed his last in a Mumbai hospital at the age of 75. Subrata Roy’s life was full of ups and downs, he lived a journey where he saw struggle, saw the heights of success and then had to go to jail. That is, an industrialist who traveled from the floor to the floor and then due to controversies again from the floor to the floor.

ADVERTISEMENT

यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT