पंजाब में कांग्रेस और AAP के बीच खेल में फंस गई BJP! लेटेस्ट सर्वे में देखिए कैसा है हाल

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

newstak
social share
google news

Punjab Opinion Poll: बीजेपी ने जब से अपने लिए 370 और गठबंधन NDA के लिए 400 सीटें जितने का दावा किया है तभी से ये सवाल उठ रहा है कि, बीजेपी अपना ये टारगेट आखिर कैसे पूरा करेगी. गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक जैसे राज्यों में बीजेपी 2019 में ही पीक पर थी. अब पार्टी को और ज्यादा सीटें कहां से मिलेंगी? ऐसे ही उत्तर भारत में पंजाब एक ऐसा राज्य है जहां बीजेपी की दाल गलने का चांस नहीं बन रहा है. एबीपी न्यूज-सी वोटर ने ओपिनियन पोल में अनुमान लगाया है कि पंजाब में केजरीवाल और कांग्रेस एक-दूसरे से लड़ेंगे भी और जीतेंगे भी. दिलचस्प बात ये है कि, प्रदेश में कांग्रेस-आप की आपसी लड़ाई का भी फायदा बीजेपी को मिलता नहीं दिख रहा है. 

पंजाब में लोकसभा की 13 सीटें है. यहां आम आदमी पार्टी (AAP), कांग्रेस, बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल चुनावी मैदान में है. वैसे आपको बता दें कि, कांग्रेस और AAP INDIA अलायंस में साझीदार पार्टियां है लेकिन दोनों ने आपसी सहमति से ये फॉर्मूला बनाया है कि, सारे देश में एक साथ एक गठबंधन में चुनाव लड़ेंगे लेकिन पंजाब में अकेले-अकेले लड़ेंगे. एबीपी न्यूज-सी वोटर के सर्वे के मुताबिक इससे किसी को नुकसान भी नहीं होता दिख रहा है. आइए आपको बताते हैं कि, पंजाब के ओपिनियन पोल में किसे मिल रही कितनी सीटें. 

पंजाब में कांग्रेस और आप का बजेगा डंका 

पंजाब के लिए आए ABP C-voter के इस फाइनल ओपिनियन पोल में प्रदेश में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनती हुई दिख रही है, वहीं अकाली दल का खाता खुलता भी नजर नहीं आ रहा है. ओपिनियन पोल के मुताबिक, प्रदेश की 13 लोकसभा सीटों में से बीजेपी को दो सीटें, प्रदेश में सत्तारूढ़ पार्टी AAP को चार तो वहीं कांग्रेस को सर्वाधिक सात सीटें जीतने का अनुमान लगाया गया है. 

वोट शेयर की बात करें तो सर्वे के अनुमानों में कांग्रेस को पंजाब में सबसे ज्यादा 30 फीसदी वोट शेयर, AAP को 27 फीसदी, अकाली दल को 17 और बीजेपी को सिर्फ 16 फीसदी वोट मिलने का अनुमान है. यहां भी कांग्रेस और AAP दोनों पार्टियां बाजी मारते दिख रही है. 

पिछले चुनाव के ये थे नतीजे

पंजाब के 2019 के लोकसभा चुनावों में काग्रेस को 8 सीटों पर जीत मिली थी. भाजपा और अकाली गठबंधन को 4 सीटें मिली थीं. इसके अलावा AAP को एक सीट पर जीत मिली थी. मौजूदा सर्वे में कांग्रेस को जहां 1 सीटों का नुकसान दिख रहा है, AAP को तीन सीटों का फायदा होता दिख रहा है. बीजेपी और अकाली दल इस बार अलग-अलग चुनाव लड़ रहे है. वैसे बीजेपी को पिछले चुनाव में भी 2 सीटें ही मिली थी इस बार भी उसे दो सीटों का ही अनुमान है. अकाली को भी दो सीटें मिली थी लेकिन इस बार के सर्वे में उसे एक भी सीट मिलती नजर नहीं आ रही है. 

यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT