बार-बार माफी क्यों मांग रहे है संबित पात्रा? क्या हुआ ऐसा जिसके पश्चाताप के लिए 3 दिन करेंगे उपवास, जानिए  

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

newstak
social share
google news

Sambit Patra: संबित पात्रा, बीजेपी के तेज-तर्रार प्रवक्ता, जिन्हें टीवी डिबेट्स में बीजेपी का पक्ष रखते देखा जाता है. एंकर के चाहे कितने भी कठिन सवाल क्यों न हो संबित पात्रा बीजेपी की नैया हमेशा पार कराते दिखते हैं. हालांकि अब उन्हीं की नैया मझधार में फंस गई है. दरअसल बात ये है कि, बीजेपी ने उन्हें पुरी लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है. उनकी जीत के लिए पीएम मोदी तक ने रोड शो किया. इन्हीं सब के बीच संबित पात्रा ने भगवान जगन्नाथ को लेकर एक टिप्पणी कर दी हैं. उन्होंने कहा हैं कि, 'भगवान जगन्नाथ पीएम मोदी के भक्त हैं.' संबित पात्रा के इस बयान के बाद उनके साथ-साथ बीजेपी की बीते दिन से ही खूब फजीहत हुई पड़ी है.फजीहत इतनी हुई है कि, संबित के दो-दो बार माफी मांगने के बाद भी मामला शांत नहीं हो पा रहा है. आइए आपको बताते हैं पूरा मामला क्या है. 

कैसे शुरू हुआ ये मामला?

पुरी लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार संबित पात्रा अपने प्रचार के दौरान मीडिया से बात कर रहे थे. उसी दौरान उन्होंने पीएम और भगवान जगन्नाथ को लेकर एक टिप्पणी की. सोशल मीडिया पर वायरल क्लिप जिसमें वह किसी ओड़िया चैनल से बातचीत में यह कहते सुने जा सकते हैं कि, 'भगवान जगन्नाथ पीएम मोदी के भक्त हैं.' उनके इस बयान पर कांग्रेस सहित विपक्षी दलों ने उनको घेरना शुरू किया. 

बीजेपी ने किया 'भगवान का अपमान' 

संबित पात्रा की टिप्पणी को लेकर कांग्रेस ने भी बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. पार्टी ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'बीजेपी नेता संबित पात्रा का कहना है कि महाप्रभु भगवान श्रीजगन्नाथ नरेंद्र मोदी के भक्त हैं. यह महाप्रभु का घोर अपमान है. इस बयान से करोड़ों भक्तों की आस्था को ठेस पहुंची है. मोदी भक्ति में डूबे संबित पात्रा को ऐसा नहीं करना चाहिए था. यह पाप किया है. नरेंद्र मोदी को खुद इस घृणित बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए.'

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस पर कहा कि, 'महाप्रभु श्री जगन्नाथ पूरे विश्व के भगवान हैं. उन्हें किसी एक मनुष्य का भक्त कहना महाप्रभु का अपमान है. यह विश्व के करोड़ों जगन्नाथ भक्तों एवं ओड़िआ समाज का अपमान है. इससे पूरे समाज को दुख हुआ है. महाप्रभु ओड़िया अस्मिता के सबसे बड़े प्रतीक हैं.' ऐसे ही आम आदमी पार्टी के सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल ने भी पात्रा की आलोचना की और इसे 'भगवान का अपमान' बताया. उन्होंने कहा, 'मैं बीजेपी के इस बयान की कड़ी निंदा करता हूं. उन्होंने सोचना शुरू कर दिया है कि वे भगवान से ऊपर हैं. यह अहंकार की पराकाष्ठा है. मोदी जी को भगवान का भक्त कहना भगवान का अपमान है.'

संबित पात्रा ने माफी के साथ पश्चाताप के लिए 3 दिन के उपवास की कही बात 

संबित पात्रा ने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा कि, उनकी 'जुबान फिसल गई थी.' सीएम नवीन पटनायक के ट्वीट को शेयर करते हुए पात्रा ने लिखा, 'आज पुरी में नरेंद्र मोदीजी के रोड शो की भारी सफलता के बाद मैंने कई मीडिया चैनलों को कई बाइट्स दीं, हर जगह मैंने उल्लेख किया कि मोदी जी एक उत्साही और श्रीजगन्नाथ महाप्रभु के 'भक्त' हैं. मैंने इसका ठीक उल्टा उच्चारण कर दिया.'

आज फिर उन्होंने एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, 'आज महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी को लेकर मुझसे जो भूल हुई है, उस विषय को लेकर मेरा अंतर्मन अत्यंत पीड़ित है. मैं महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी के चरणों में शीश झुकाकर क्षमा याचना करता हूं. अपने इस भूल सुधार और पश्चाताप के लिए अगले 3 दिन मैं उपवास पर रहूंगा.'

कुल मिलाकर संबित पात्रा के इस बयान के बाद से ही उनके साथ-साथ पूरी पार्टी को फजीहत उठानी पड़ रही है. चुनाव के ठीक पहले विपक्ष को भी बीजेपी को टारगेट करने का एक पका-पकाया मौका मिल गया है. लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 25 मई को पूरी में मतदान होना है. पिछली बार मिली मामूली अंतर से हार को जीत में बदलने के लिए पात्रा  ने इस बार एड़ी चोटी का जोर लगा दिया था. हालांकि उनके इस बयान के बाद अब क्या क्या है ये देखना दिलचस्प होगा. 
 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT