फेसबुक और इंस्टाग्राम पर प्रचार के लिए पैसे खर्चने में बीजेपी नंबर वन, जानिए कांग्रेस ने कितना किया खर्च?

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

newstak
social share
google news

BJP election campaign expenses: देश में चल रहे लोकसभा चुनाव का असर सोशल मीडिया से लेकर विभिन्न डिजिटल प्लेटफार्म पर भी देखा जा रहा है. इस चुनावी मौसम में जब भी आप सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म यूज करते है तो आपको राजनैतिक विज्ञापन जरूर देखने को मिले होंगे. न चाहते हुए भी आपको अगल-अलग पार्टियों का ऐड़ दिख जाता होगा. वैसे आपको बता दें कि, दुनिया भर में सबसे ज्यादा इंटरनेट यूजर्स भारत में है. ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियों ने भी सोशल मीडिया की ताकत को पहचानते हुए चुनाव के डिजिटल कैंपेन पर मोटी रकम खर्च करना शुरू किया है जो हमें दिख भी रहा है. तीसरे फेज के चुनाव में खर्च हुए पैसों से तो ये साफ झलक रहा है कि, पार्टियों का भी डिजिटल प्रचार में ज्यादा रुझान है. आइए हम आपको बताते हैं कि तीन चरण के चुनाव में सोशल मीडिया पर अबतक किस पार्टी ने कितना खर्च किया है.  

खर्च बताने से पहले हम आपको बता दें कि, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर दो प्रकार से ऐड चलाया जाता है. पहला- राजनैतिक पार्टियां अपने आधिकारिक पेज से पार्टी लाइन के मुताबिक पोस्ट और प्रचार करती है. वहीं दूसरे प्रकार में वो पेज होते है जिसके सभी पोस्ट और ऐड एक विशेष पार्टी का समर्थन करते हुए दिखाए जाते है. वैसे आपको बता दें कि, इन पेजों पर चल रहे विज्ञापनों पर खर्च होने वाली रकम को चुनाव आयोग के खर्च के दायरे से बाहर रखा जाता है. ऐसे पेजों को 'प्रॉक्सी' पेज कहते है और इन पेज पर चलने वाले प्रचार को 'सरोगेट ऐड' कहा जाता है.   

अब जानिए खर्च का पूरा ब्योरा

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, तीसरे चरण के मतदान से दो हफ्ते पहले तक फेसबुक और इंस्टाग्राम पर चलने वाले शीर्ष 20 विज्ञापनदाताओं ने राजनीतिक ऐड चलाने के लिए करीब 17 करोड़ रुपये खर्च किया है. बीते 23 अप्रैल से 6 मई के बीच ऐड पर शीर्ष 20 खर्च करने वालों में से 15 सरोगेट अकाउंट से पैसा दिया गया है वहीं केवल पांच अकाउंट ही आधिकारिक राजनीतिक दलोंके थे. सरोगेट अकाउंट से चलाए गए कम से कम 30 विज्ञापनों में सांप्रदायिक रंग थे, जिसमें मुख्य रूप से अल्पसंख्यक समुदाय को निशाना बनाया गया था. 

बीजेपी ने किया सर्वाधिक पैसा खर्च

तीसरे चरण के चुनाव से दो सप्ताह पहले बीजेपी ने फेसबुक और इंस्टाग्राम पर राजनीतिक विज्ञापनों पर सबसे अधिक पैसा खर्च किया था. बीजेपी ऐड पर 5.63 करोड़ रुपये खर्च की, वहीं कांग्रेस ने 4.81 करोड़ रुपये और बीजू जनता दल के एक सहयोगी पेज अमा चिन्हा सांखा ने 2.15 करोड़ रुपये खर्च किए. तेलुगु देशम पार्टी 32.16 लाख रुपये और तृणमूल कांग्रेस ने 23.84 लाख रुपये खर्च किया. अगर सेरोगेट अकाउंट की बात कि जाए तो भाजपा समर्थक अकाउंट 'फिर एक बार मोदी सरकार' और 'मनमोदी' ने राजनीतिक विज्ञापनों पर 57.64 लाख रुपये और 42.17 लाख रुपये खर्च किया. इससे साफ है कि, इन सरोगेट अकाउंट ने तेलुगु देशम पार्टी और तृणमूल कांग्रेस से भी अधिक रुपए खर्च किया है.  

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

वहीं 23 अप्रैल से 6 मई तक 'पॉलिटिकल एक्स-रे' नाम के अकाउंट जो कि बीजेपी समर्थक विज्ञापन चलाने के लिए जाना जाता है ने फेसबुक और इंस्टाग्राम पर कुल 27.6 लाख रुपये खर्च किया. 'सिद्ध चश्मा' नामक अकाउंट जो बीजेपी समर्थक विज्ञापन चलाता है ने हाल ही में मुस्लिम विरोधी थीम वाला एक विज्ञापन चलाया था. इस विज्ञापन में कांग्रेस पर कथित तौर पर समाज के अन्य वर्गों की कीमत पर अल्पसंख्यकों का पक्ष लेने का संकेत दिया गया था. 'सिद्ध चश्मा' ने इस विज्ञापन पर 31.64 लाख रुपये खर्च किया. 

इस स्टोरी को न्यूजतक के साथ इंटर्नशिप कर रहे IIMC के डिजिटल मीडिया के छात्र राहुल राज ने लिखा है.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT