महिलाओं को कैश स्कीम के बूते सरकार बनाएगी कांग्रेस! इस वोटर ग्रुप में किसका पलड़ा भारी?

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

Women Voters
Women Voters
social share
google news

Assembly Election 2023: पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों में कैश स्कीम की धूम है. खासकर कांग्रेस ने राजस्थान, मध्य प्रदेश, तेलंगाना जैसी जगहों पर महिलाओं के लिए कैश स्कीम का ऐलान किया है. राजस्थान में महिलाओं को 10-10 हजार रुपये तक देने का वादा है. बीजेपी की भी अपनी कैश स्कीम हैं. जैसे मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार की लाडली बहना स्कीम. केंद्र सरकार पहले ही किसानों को कैश भेज रही है. महिलाओं को गैस सिलेंडर देकर मोदी सरकार ने महिलाओं का एक बड़ा लाभार्थी वर्ग तैयार किया. कांग्रेस ने 2019 के चुनाव में न्याय स्कीम के तहत 72 हजार रुपये देने का वादा किया पर जीत नहीं मिली. क्या अब कैश स्कीम जीत दिला पाएंगी? महिला वोटरों के ग्रुप में अभी किसका पलड़ा भारी है?

पहले देख लीजिए कैसी-कैसी स्कीमें है

राजस्थान में कांग्रेस ने ‘गृह लक्ष्मी गारंटी योजना’ का ऐलान किया, सरकार रिपिट होने पर इसे लागू करने की बात की. इसमें हर परिवार की एक महिला को साल में 10000 रुपए देने की घोषणा की. यहां 500 रुपए में गैस सिलेंडर देने की योजना पहले से ही चल रही है. एमपी में कांग्रेस ने महिलाओं को 1500 रुपये महीने, 500 रुपए में गैस सिलेंडर और बेटियों के विवाह के लिए एक लाख एक हजार रुपए देने का वादा किया है.

मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार ने ‘लाड़ली बहना योजना’ के तहत 1000 रुपए महीना देने की घोषणा की है. वहीं लड़की के जन्म पर ‘लाड़ली लक्ष्मी योजना’ के तहत 30000 रुपए देगी और 30 साल के होने तक किस्तों में 1.18 लाख देने का वादा है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

महिला वोटर्स की पसंद कौन?

सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसाइटीज(CSDS) और लोक नीति के सर्वे के मुताबिक महिलाओं का वोट लेने के मामले में बीजेपी का पलड़ा भारी है. जिन राज्यों में बीजेपी सरकारें बना रही है वहां महिलाओं के वोट प्रतिशत में लगातार वृद्धि हो रही है. बिहार, असम और UP विधानसभा चुनावों में भी यही ट्रेंड देखने को मिला. इसे यूपी के आंकड़ों से समझिए. ऐसी महिला वोटर्स जिन्हें कैश ट्रांसफर का लाभ मिला उनमें 53 फीसदी ने बीजेपी गठबंधन को वोट किया. समाजवादी पार्टी (SP) गठबंधन को 29 फीसदी और बहुजन समाज पार्टी (BSP) को 13 फीसदी गया. इसी तरह फ्री राशन पाने वाली महिला वोटर्स का 47 फीसदी बीजेपी के पास गया. वहीं SP को 32 और बीएसपी को 14 फीसदी ऐसी महिला लाभार्थियों के वोट गए.

साफ है कि कैश स्कीम हो या महिला केंद्रित दूसरी स्कीम, बीजेपी को इनका फायदा मिला है. अब कांग्रेस भी इसी ताक में है. अब चुनावों के बाद जब रिजल्ट आएंगे, तो यह देखना दिलचस्प होगा कि गारंटियों के दम पर कांग्रेस कितना आगे गई.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT