MP Exit poll result 2023: शिवराज की जबर्दस्त वापसी के संकेत! 8 पॉइंट में समझिए क्यों हुआ ऐसा

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

MP Election, Madhya Pradesh exit poll 2023,
MP Election, Madhya Pradesh exit poll 2023,
social share
google news

Madhya Pradesh Exit Poll 2023: इंडिया टुडे और एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल में मध्य प्रदेश में बड़ा उलटफेर होता दिख रहा है. अबतक माना जा रहा था कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार को कड़ी टक्कर दे रही है. कई ओपनियन पोल में तो कांग्रेस को बीजेपी पर बढ़त भी दिखाई गई थी. लेकिन एग्जिट पोल ने पूरे आंकड़े ही बदल कर रख दिए.

आइए आपको पहले एग्जिट पोल का आंकड़ा बताते हैं. मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीट में बीजेपी को 140 से 162 सीटें मिलने का अनुमान है. कांग्रेस को 68 से 90 सीट जबकि अन्य के खाते में 0 से 3 सीटें जाने का अनुमान है. मध्य प्रदेश में बहुमत का आंकड़ा 116 सीटों का है. इस हिसाब से बीजेपी आसानी से सरकार में वापसी करती दिख रही है.

आखिर ऐसा क्या हुआ कि शिवराज के हारने की चर्चा अचानक उनकी लैंडस्लाइड विक्ट्री के संकेतों में बदलती नजर आ रही है. आइए अब इसे 8 पॉइंट में समझते हैं.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

1- महिला वोटर्स ने बीजेपी के प्रति पूरा माहौल ही बदल कर रख दिया. एग्जिट पोल का पहला सबसे बड़ा संकेत यही है.

2- एग्जिट पोल का यह परिणाम सीएम शिवराज सिंह चौहान और महिला वोटर्स से उनके कनेक्ट का नतीजा है. पिछले 18 सालों में शिवराज ने महिला केद्रित 21 सामाजिक कल्याण योजनाएं लाई हैं. 2005 में गांव की बेटी योजना तो 2007 की फ्लैगशिप लाडली लक्ष्मी योजना या हाल में लॉन्च की गई लाडली बहना योजना, जिसमें 1.31 करोड़ महिलाएं हर महीने की 10 तारीख को अपने खाते में 1250 रुपये पा रही हैं.

ADVERTISEMENT

3- कांग्रेस को जहां महिलाओं के 40 फीसदी वोट मिलने को अनुमान है, तो बीजेपी को 50 फीसदी. यानी 10 फीसदी का फर्क. पुरुष वोटों के लिए ये फर्क 3 फीसदी का है (बीजेपी को 44%, कांग्रेस को 41%).

ADVERTISEMENT

4- परंपरागत रूप से अनुसूचित जाति (SC), अनुसूचित जनजाति (ST) और मुस्लिम वोटर्स कांग्रेस के पक्ष में समझे जाते थे. पर इस बार SC,ST के पुरुष मतदाता ज्यादातर कांग्रेस के पक्ष में रहे, तो इस समूह की महिला मतदाता बीजेपी के पक्ष में दिखीं.

5- इस चुनाव में बहुजन समाज पार्टी (BSP) ने आदिवासी दल गोंडवाना गणतंत्र पार्टी (GGP) के साथ गठबंधन में गई. उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे चंबल, बघेलखंड और बुंदेलखंड क्षेत्र में BSP के 5-6 फीसदी वोट रहे हैं. इसके अलावा GGP का प्रभाव महाकौशल और बघेलखंड में देखने को मिला है.

6- वैसे तो कांग्रेस और बीजेपी ने कमलनाथ और शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री का चेहरा तय नहीं किया. इसके बावजूद वोटर्स के बीच में यही दो नाम रहे और एग्जिट पोल के मुताबिक शिवराज का चेहरा भारी पड़ा.

7- एग्जिट पोल के मुताबिक कांग्रेस के 59 वादे और 5 गारंटी लोगों को उस कदर लुभा नहीं पाए. शिवराज का टेस्टेड चेहरा आड़े आ गया.

8- एग्जिट पोल के मुताबिक इस विधानसभा चुनाव में बीजेपी सभी 7 क्षेत्रों में बढ़त बनाए नजर आई है. वैसे चंबल में करीबी मुकाबला देखे गया है.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT