बिहार की सियासत में सुर्खियां बंटोर रहे पप्पू यादव, रंजीत रंजन संग इनकी प्रेम कहानी रही है खास

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

newstak
social share
google news

Pappu Yadav Ranjeet Ranjan Love story: बिहार के नेता राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव का नाम इन दिनों काफी सुर्खियों में है. पिछले दिनों पप्पू यादव ने अपनी पार्टी जनाधिकार मंच का कांग्रेस में विलय कर लिया. चर्चा थी कि कांग्रेस बिहार की पुर्णिया सीट से पप्पू यादव को लोकसभा का चुनाव लड़ाएगी. लेकिन राष्ट्रीय जनता दल (राजद) संग सीट शेयरिंग डील में कांग्रेस को यह सीट ही नहीं मिली. लालू यादव ने इस सीट पर जेडीयू से आई बीमा भारती को टिकट दे दिया. वैसे पप्पू यादव अभी कह रहे हैं कि वह 4 अप्रैल को पुर्णिया से नामांकन करेंगे. पप्पू यादव की सियासी कहानी जितनी रोचक है, उतनी ही फिल्मी उनकी प्रेम कहानी भी है. 

आइए आज आपको पप्पू यादव और उनकी सांसद पत्नी रंजीत रंजन की कहानी बताते हैं. बहुत कम लोग ही ये बात जानते हैं कि, पप्पू यादव और रंजीत रंजन एक-दूसरे से कैसे मिले और फिर कितनी मुश्किलों के बाद उनकी शादी हुई. दिलचस्प बात ये भी है कि, सिक्ख परिवार में जन्मी रंजीत कौर कैसे रंजीत रंजन के रूप में बिहार के हिन्दू परिवार की बहू बन गईं. पप्पू यादव ने पिछले दिनों न्यूज 'TAK' के शो 'मंच' में बताया कि, उनके भाई के मना करने के बावजूद भी हम नहीं माने. मेरे अंदर बस उन्हें पाने का जिद्द था जिसमें अंततः मुझे सफलता मिली. आइए हम आपको बताते हैं पप्पू यादव की प्रेम कहानी. 

टेनिस खेलते देख हुआ प्यार फिर तीन साल घूमे थे पीछे

बात 1991 की है जब पप्पू यादव एक मामले में पटना की जेल में बंद थे. वहीं उनकी मुलाकात विक्की नाम के लड़के से हुई. विक्की, रंजीत का भाई था जिससे पप्पू की अच्छी दोस्ती हो गई थी. विक्की ने ही अपनी फैमिली एलबम पप्पू यादव को दिखाई थी जिसमें टेनिस खेलते हुए रंजीत की फोटो थी. तब फोटो में ही रंजीत को देखकर पप्पू यादव उनपर लट्टू हो गए थे और उनपर दिल आ गया था. रंजीत टेनिस की नेशनल लेवल की खिलाड़ी थी. फोटो में ही पप्पू यादव को रंजीत से बेइंतहा प्यार हो गया था. वैसे पप्‍पू यादव ने रंजीत को पहली बार पटना क्‍लब में देखा था. जेल से छूटने के बाद पप्पू यादव अक्सर उस मैदान के चक्कर लगाते थे जहां रंजीत खेला करती थी. 

महिला दिवस के मौके पर रंजीत रंजन बुलेट से संसद जाती हुई

दीवानगी का जानकारी होने पर रंजीत ने किया इनकार, पर नहीं माने पप्पू यादव 

पप्‍पू यादव ने रंजीत को फॉलो करने के लिए पटना से पंजाब तक के चक्‍कर लगाना शुरू कर दिया था. यह सिलसिला करीब तीन साल तक चलता रहा. पप्पू यादव ने एक दिलचस्प बात ये बताई कि, मुझे तो उनसे तीन साल पहले से ही प्यार हो गया था लेकिन रंजीत को पता ही नहीं चला कि, हम उनसे प्यार करते हैं और उनके पीछे तीन साल से पगलाये हुए हैं. पप्पू यादव ने बताया कि, दो साल के बाद जब उन्हें इसका पता चला, तब उन्होंने पगला गए है कहते हुए मना कर दिया. फिर उनके भाई ने मुझे बोला कि, हम सिक्ख है आप हिन्दू हैं दोनों का धर्म अलग-अलग है, तो ये कैसे संभव है. आप विधायक है समझदार है आपको अच्छी लड़की मिल जाएगी तब मैंने कहा था कि, हमको कोई नहीं मिलेगी हमको वही मिली हैं. तब उन्होंने बोला कि ये संभव नहीं है, फिर मैंने कह दिया था कि, चलिए देखते है. 

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

'परेशान होकर खा लिया था जहर' जिससे पिघला रंजीत का दिल 

पप्पू यादव ने  न्यूज 'TAK' के शो 'मंच' में बताया कि, जब रंजीत को मेरे प्यार के बारे में पता चला तो उन्होंने इनकार कर दिया था. उस समय मुझे बहुत बुरा लगा और मैं परेशान हो गया और डिप्रेशन में चला गया था. तब मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि, क्या करू? फिर मैंने परेशान होकर जहर खाकर आत्महत्या करने का प्रयास भी किया. लेकिन मेरा भाग्य सही था कि, मैं बच गया. इन सब की जानकारी जब रंजीत को हुई तब जाकर उनका दिल पिघला और वो राजी हो गई. 

कांग्रेस नेता अहलूवालिया के इंटेरफेयर से बनी बात 

अपने प्यार को पाने के लिए पप्पू यादव कहां रुकने वाले थे. वो रंजीत और उसके परिवार को मनाने की कोशिश लगातार करते रहे. रंजीत के माता-पिता तो इस शादी के खिलाफ थे, लेकिन पप्पू के पिता चंद्र नारायण प्रसाद और माता शांति प्रिया अपने बेटे की खुशी के लिए राजी हो गए थे. बहुत मनाने के बाद भी जब बात नहीं तब उन्हें कही से पता चला कि, कांग्रेस नेता एसएस अहलूवालिया की बात रंजीता का परिवार नहीं टाल सकता है. फिर क्या था पप्पू यादव ने उनसे अपनी गुहार लगाई तब जाकर उन्हें अपने प्यार को पाने में सफलता मिली.  

ADVERTISEMENT

पूर्णिया में धूमधाम से हुई शादी, लालू यादव भी हुए थे शामिल 

फरवरी 1994 में पप्‍पू यादव और रंजीत कौर की शादी पूर्णिया में हुई. इस शादी में पूर्णिया को खूब सजाया गया था. शहर के सभी होटल और गेस्ट हाउस बुक कर दिए गए थे. इस हाई प्रोफाइल शादी में देश के पहले उप-प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल, लालू प्रसाद यादव, सहित कई हस्तियां शामिल हुई थी. वैसे सुनी-सुनाई बात ये भी है कि, पप्पू यादव की शादी में बारतियों को लाने के लिए शोरूम से सैकड़ों नई गाड़ियों को उठा लिया गया था और जमकर बवाल काटा गया था.

ADVERTISEMENT

पप्पू यादव ने अपनी प्रेम कहानी पर क्या-क्या बताया आप इस वीडियो में 40 मिनट से देख सकते हैं-

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT