कौन हैं मौलाना मुफ्ती सलमान अजहरी जिन्हें भड़काऊ भाषण के लिए किया गया अरेस्ट?

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

newstak
social share
google news

Maulana Mufti Salman Azhari: इस्लामिक रिसर्च स्कॉलर मौलाना मुफ्ती सलमान अजहरी इस वक्त चर्चा में हैं. मुफ्ती सलमान अजहरी को गुजरात पुलिस ने मुंबई से गिरफ्तार किया है. मौलाना मुफ्ती की गिरफ्तारी बीते महीने की 31 तारीख को गुजरात में दिए गए एक भड़काऊ भाषण के वायरल होने के बाद हुई. गुजरात पुलिस ने मौलाना के खिलाफ हेट -स्पीच के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया है. मौलाना के गिरफ्तारी की जानकारी के बाद मुंबई में उनके समर्थन में प्रदर्शन भी हुए. आइए आपको बताते हैं आखिर कौन हैं मौलाना मुफ्ती सलमान अजहरी और किस मामले में हुई है गिरफ्तारी.

कौन हैं मुफ्ती सलमान अजहरी?

मौलाना मुफ्ती सलमान अजहरी अपने आपको एक सुन्नी इस्लामी रिसर्च स्कॉलर बताता है. मौलाना अजहरी जामिया रियाजुल जन्नाह, अल-अमान एजुकेशन एंड वेलफेयर ट्रस्ट और दारुल अमान का संस्थापक भी है. मौलाना ने मिस्र की सबसे पुरानी अल-अजहर यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है. मौलाना मुफ्ती की एक्स प्रोफाइल से ये पता चलता है कि, वो सामाजिक और धार्मिक एक्टिविटी से जुड़े कार्यक्रमों में सक्रिय भूमिका में रहता है. सोशल मीडिया पर मौलाना की जबर फैन फॉलोइंग भी है. इन सब के साथ ही वो इस्लामी छात्रों को धर्म की शिक्षा भी देता रहता है.मौलाना अजहरी सोशल मीडिया पर अक्सर अपने भड़काऊ भाषणों की वजह से सुर्खियों में रहता है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

क्या है मौलाना के गिरफ्तारी की वजह?

मौलाना मुफ्ती सलमान अजहरी ने बीते 31 जनवरी को गुजरात के जूनागढ़ में एक कार्यक्रम में आपत्तिजनक भाषण दे दिया था. मौलाना के उस भाषण की एक क्लिप सोशल मीडिया पर शनिवार को वायरल हो गई. वायरल क्लिप में मौलाना ये कहते हुए दिख रहे है कि, ‘दुनिया आज हमें ताने मारती है कि, तुम अगर इतने सच्चे हो तो मारे क्यों जाते हो. फलस्तीन में तुम्हारा कत्ल इतना ज्यादा क्यों हुआ. इराक, यमन, फलस्तीन, अफगान, अरब और बर्मा…हर जगह तुम मारे क्यों जाते हो. नौजवानों उन जालिमों को जवाब इतना देना कि मुफ्ती आजम ने हमें सिखाया था. हम परवाने हैं रसूल-उल्लाह के. जो परवाना है वो मरने के लिए ही पैदा होता है. जीने के लिए नहीं आता है. परवाने की मुहब्बत अपने शमा के इर्द-गिर्द घूमकर जान देना है.

मौलाना के इसी बयान को भड़काऊ और समाज में नफरत पैदा करने वाला बताते हुए कार्यक्रम के 2 आयोजकों और मौलाना के खिलाफ मामला दर्ज किया था. इसी आधार पर दोनों आयोजकों और मौलाना को गिरफ्तार कर लिया गया.

ADVERTISEMENT

follow on google news
follow on whatsapp

ADVERTISEMENT