महादेव बेटिंग ऐप बनाने वाला रवि उप्पल अरेस्ट, जूस-टायर की दुकान चलाते थे और अब किया अरबों का कांड

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

Mahadev app
Mahadev app
social share
google news

Mahadev App: महादेव ऑनलाइन सट्टेबाजी ऐप मामले में नया मोड़ आया है. इस ऐप से संबंधित दो आरोपियों में से एक रवि उप्पल को संयुक्त अरब अमीरात में गिरफ्तार कर लिया गया है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक दुबई पुलिस ने मंगलवार को महादेव ऑनलाइन बेटिंग सिंडिकेट के रवि उप्पल को गिरफ्तार किया. उप्पल को जल्द ही भारत प्रत्यर्पित किया जा सकता है. आइए बताते हैं क्या है महादेव ऐप का पूरा मामला.

महादेव बेटिंग ऐप क्या है और इसपर कैसे आरोप?

महादेव ऐप सट्टेबाजी के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराता है. इससे क्रिकेट, पोकर और कार्ड गेम के अलावा कई तरह के लाइव गेम में अवैध सट्टेबाजी की जाती है. इसपर चुनावों में जीत-हार पर भी सट्टा लगाया जाता है. इंफोर्समेंट डायरेक्ट्रेट (ED) ने ऐप के प्रमोटर्स पर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज कर रखा है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम बघेल पर भी लगा आरोप फिर आया नया मोड़

इस ऐप के प्रमोटरों रवि उप्पल और सौरभ चंद्राकर पर छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश को अवैध रूप से 508 करोड़ से ज्यादा रुपए देने का आरोप लगा था. CM बघेल पर ऐप के प्रमोटरों को संरक्षण देने का भी आरोप लगा था. इसी मामले में ED मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज कर जांच कर रही है. पिछले दिनों शुभम सोनी नाम के व्यक्ति ने अपने आप को महादेव ऐप का मालिक बताते हुए एक वीडियो जारी किया था. वीडियो में उसने छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम भूपेश बघेल पर गंभीर आरोप लगाए थे. उसने ऐसा दावा किया था कि भूपेश बघेल को 508 करोड़ से ज्यादा रुपए दिये हैं. उसने ये भी कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार पैसों के बदले हमें संरक्षण देती थी. वैसे इन आरोपों की कोई पुष्टि नहीं हुई और भूपेश बघेल ने इसे राजनीतिक प्रायोजित बताया.

भूपेश बघेल पर आरोप लगाने वाला एक आरोपी कोर्ट में पलट भी चुका है

इस मामले में गिरफ्तार एक दूसरे आरोपी असीम दास ने पिछले दिनों एक विशेष अदालत में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर लगाए सभी आरोपों से इनकार करते हुए इसे फंसाने की साजिश बताया था. इससे पहले ED ने दास के बयान को आधार बनाते हुए ये दावा किया था कि महादेव एप के प्रमोटरों ने प्रदेश के पूर्व सीएम बघेल को 508 करोड़ रुपए का भुगतान किया था.

ADVERTISEMENT

कौन हैं इस ऐप का मास्टर माइंड?

महादेव बेटिंग ऐप छत्तीसगढ़ के भिलाई के रहने वाले दो युवकों ने शुरू किया, जिनका नाम सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल है. सौरभ चंद्राकर इससे पहले भिलाई में ही एक जूस की दुकान चलाया करता था. रवि उप्पल पेशे से एक इंजीनियर था और उसकी टायर की भी एक दुकान थी. मगर, दोनों को जल्द ही बहुत सारा पैसा कमाना था. इसलिए वे बेटिंग करने लगे. फिर उन्होंने सट्टे के खेल को समझा और इसे खेलने की बजाय खिलवाना शुरू किया. दोनों ने मिलकर साल 2016-17 में महादेव बुक बेटिंग ऐप लॉन्च किया.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT