नीतीश आदरणीय थे, हैं और रहेंगे, खेला अभी बाकी है… तेजस्वी यादव क्या इशारा कर रहे हैं?

ADVERTISEMENT

newstak
social share
google news

Tejashwi news: बिहार में नीतीश कुमार ने राष्ट्रीय जनता दल, कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियों के महागठबंधन की सरकार को भंग कर रिकॉर्ड 9वीं बार CM पद की शपथ ली है. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने नीतीश सरकार को समर्थन दिया है और बदले में दो डिप्टी सीएम का पद लिया है. पर ऐसा लगता नहीं कि बिहार में करीब एक हफ्ते चले सियासी नाटक का कोई पटाक्षेप हुआ है. ऐसा इसलिए क्योंकि अब बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने एक बड़ा बयान दिया है. तेजस्वी ने कहा है कि खेला अभी शुरू हुआ है और खेला अभी बाकी है. हालांकि तेजस्वी ने यह भी कहा कि वह अपने पत्ते नहीं खोलेंगे. ऐसी चर्चा है कि बिहार विधानसभा के बजट सत्र में नीतीश कुमार जब बहुमत साबित कर रहे होंगे, तो राजद कोई खेल कर सकती है.

जेडीयू के विधायक तोड़ने की कोशिश, जीतन राम मांझी को सीएम पद की पेशकश जैसी चर्चाएं सूत्रों के हवाले से सामने आ रही हैं. आइए उससे पहले बताते हैं कि तेजस्वी यादव ने क्या क्या कहा है.

तेजस्वी ने कहा, ‘देखिए हम अलग नहीं हुए हैं, वो (नीतीश कुमार) हुए हैं. हमलोगों ने जो गठबंधन बनाया उसकी हत्या मैं नहीं कर सकता. इसकी हत्या नीतीश कुमार जी ने की है. हालांकि जो भी है, न मुझमें गुस्सा है और ना हमें कोई शिकायत है. नीतीश कुमार जी आदरणीय थे, आदरणीय हैं और आदरणीय रहेंगे. इसमें कोई दो राय नहीं है.’

पूर्व डिप्टी सीएम ने आगे कहा, ‘इसमें कोई दो राय नहीं है. अभिभावक हैं, बड़े हैं हमसे, मैं उनका सम्मान करता था और करता रहूंगा. हम भाजपा के लोगों को भी शुभकामना देंगे, जो उनको लेकर गए.’

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

तेजस्वी ने कहा, ‘देखिए हमलोगों का उद्देश्य क्या था. नौकरी, रोटी, रोजगार, आर्थिक न्याय, चिकित्सा, शिक्षा बेहतर हो, बिहार में विकास हो, निवेश आए. ये हमारा मुद्दा था. आप देखेंगे 17 साल भाजपा के और 17 महीने हमारे, तो ऐतिहासिक काम हुआ. जाति आधारित गणना हुई. रिजर्वेशन हमलोगों ने बढ़ाने का काम किया, जो अबतक नहीं हुआ था. 2 लाख से ज्यादा नियुक्ति पत्र बांटने का काम शिक्षा विभाग ने किया, जो आज तक किसी राज्य में नहीं हुआ. 4.5 लाख नियोजित शिक्षकों को राजकीय दर्जा दिया गया. आईटी नीति लाने का काम किया, टूरिज्म, खेल नीति लाने का काम किया. हमारा एजेंडा बिल्कुल साफ था.’

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

तेजस्वी ने तंज कसते हुए कहा कि क्रेडिट लेने की बात अगर वो (नीतीश) कहते हैं, तो हमारे 79 विधायक, उनके 45 विधायक हैं. विभाग हमारा था, मंत्री हमारा था, तो क्रेडिट हम लेंगे ही. 2020 में नीतीश कुमार कहते थे कि असंभव है सरकारी नौकरी देना, कहां से पैसा लाएगा. जब हमारी सरकार बनी तो एक हफ्ते के अंदर हमने उसी मुख्यमंत्री से ऐलान करवाया और नियुक्ति पत्र बंटवाया.

खेला अभी शुरू हुआ है: तेजस्वी

तेजस्वी यादव ने कहा कि, ‘जनता ने हमें बड़ी पार्टी बनाया है. खेला अभी शुरू हुआ है. खेला अभी बाकी है. हम क्या नीति बना रहे हैं, हम अपने पत्ता नहीं खोलना चाहते कि आगे क्या करने जा रहे हैं. हम जो कहते हैं, वो करके दिखाएंगे.

कर्पूरी ठाकुर के सवाल पर तेजस्वी यादव ने कहा कि कर्पूरी जी ने जब आरक्षण बढ़ाया तो उनकी सरकार किसने खाई? वही जनसंघ और भाजपा, आज जिनके साथ नीतीश जी गए हैं.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT