‘लिपस्टिक और बॉब कट वाली औरतें’, आरजेडी नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी महिला आरक्षण पर ये क्या बोल गए?

ADVERTISEMENT

Abdul Baari
Abdul Baari
social share
google news

पिछले दिनों राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने महिला आरक्षण विधेयक को मंजूरी दे दी. पर इस विधेयक को लेकर सियासी बवाल जारी है. इस बीच राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने इसे लेकर एक विवादित बयान दे दिया है. अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कोटे में कोटे की मांग करते हुए कह दिया कि ऐसा नहीं हुआ तो बॉब कट और लिस्प्टिक वाली औरतें आगे चली आएंगी..

अब्दुल बारी सिद्दीकी बिहार के मुज्जफरपुर में एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. सिद्दीकी ने कहा, ‘महिला आरक्षण में अति पिछड़ा, पिछड़ा और दूसरी जातियों का भी कोटा तय कर दीजिए तब तो ठीक है, वरना महिला के नाम पर पाउडर, लिपस्टिक और बॉब कट वाली औरत चली आएगी नौकरी में तो आपकी महिलाओं को हक मिलेगा?’ फिलहाल सिद्दीकी इस बयान को लेकर काफी आलोचना का शिकार हो रहे हैं.

महिला आरक्षण को लेकर ये कोई इस तरह का पहला बयान नहीं है. दिवंगत नेता शरद यादव भी महिला आरक्षण पर संसद में कुछ ऐसा ही कहा था. यह बात 16 मई 1997 की है. देवगौड़ा सरकार में तब महिला आरक्षण बिल पेश किया गया था. शरद यादव ने तब कहा था की, कौन महिला है, कौन नहीं है… केवल बाल कटी भर महिला नहीं रहने देंगे. उन्होंने आगे कहा था की इस बिल के जरिए परकटी महिलाओं की संसद में एंट्री कराना चाहते हैं? शरद यादव महिला आरक्षण में दलित पिछड़ी जाति की महिलाओं के आरक्षण के हिमायती थी. पर उनके इस बयान की तीखी आलोचना हुई थी. उन्हें माफी भी मांगनी पड़ी थी.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT