चंडीगढ़ मेयर चुनाव में अधिकारी ने हेरफेर किया? वीडियो शेयर कर कांग्रेस-AAP ने लगाए ये आरोप

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

newstak
social share
google news

Chandigarh Mayoral Election: आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें आज यानी मंगलवार को हुए चंडीगढ़ मेयर चुनाव के पीठासीन अधिकारी को कथित तौर पर मतपत्रों में हेरफेर करते हुए दिखाया गया है. इंडिया ब्लॉक के आठ पार्षदों के वोटों को अवैध घोषित किए जाने के बाद हाई-स्टेक पोल में भाजपा उम्मीदवार नामोज सोनकर को विजेता घोषित किए जाने के बाद AAP ने पीठासीन अधिकारी पर चुनावी प्रणाली में धांधली करने का आरोप लगाया है.

वीडियो शेयर करते हुए, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वारिंग ने आरोप लगाया कि भाजपा ‘लोकतंत्र की हत्या करने पर तुली हुई है.’ उन्होंने कहा, इस वीडियो में स्पष्ट रूप से पीठासीन अधिकारी को वोटों में हेरफेर करते हुए देखा जा सकता है. बीजेपी सिर्फ भ्रष्ट नहीं है. वह लोकतंत्र की हत्या करने पर तुली हुई है. वे बाहुबल, एजेंसियों, धन, दबाव की रणनीति और अधिकारियों के दम पर कुछ भी करने को तैयार है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

चुनाव जीतने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है बीजेपी: आप

आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल ने भी इस मामले को बहुत निंदनीय बताया. उन्होंने कहा कि, इंडिया ब्लॉक के उम्मीदवार कुलदीप सिंह के 8 वोट रद्द करने का फैसला बेहद चिंताजनक है. अगर मेयर के चुनाव में इस तरह की घटनाएं होंगी, तो लोकसभा चुनाव में भाजपा किसी भी हद तक जा सकती है.

आप सांसद राघव चड्ढा ने भी पीठासीन अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. उन्होंने कहा, ‘पीठासीन अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए. उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए, उन्होंने देशद्रोह किया है. हम शिकायत दर्ज करेंगे और न केवल जांच बल्कि उनकी गिरफ्तारी की मांग करेंगे.

यह भारत के लोकतंत्र के लिए एक झटका है. हम व्यथित और आहत हैं और हम चिंतित भी हैं कि, आगामी 2024 के चुनावों में क्या होगा क्योंकि ऐसे तो बीजेपी धांधली करने के लिए किसी भी स्तर तक जा सकती है.

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

क्या है पूरा मामला?

आज हुए चंडीगढ़ मेयर चुनाव में आप-कांग्रेस विपक्षी गठबंधन के उम्मीदवार कुलदीप सिंह के 8 वोट अवैध घोषित होने के बाद भाजपा उम्मीदवार मनोज कुमार सोनकर को विजेता घोषित किया गया. यह इंडिया ब्लॉक और भाजपा के बीच पहली चुनावी लड़ाई थी. सोनकर को कुल पड़े 36 वोटों में से 16 वोट मिले, जिसमें पदेन सदस्य किरण खेर सांसद का वोट भी शामिल था. इंडिया ब्लॉक के उम्मीदवार कुलदीप सिंह को 20 वोट मिले. हालांकि, 8 वोट अवैध घोषित कर दिए गए और बीजेपी उम्मीदवार विजयी हुए. आप-कांग्रेस ने वोटों को अवैध घोषित करने के फैसले का खूब विरोध किया. AAP ने ये घोषणा की कि, वे फैसले पर सवाल उठाते हुए पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT