'किंग-पिंग को बचाने के लिए हो रही साजिश, PS ने की है गलती तो कर लो गिरफ्तार', NEET Paper Leak पर बोले तेजस्वी

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

newstak
social share
google news

Tejashwi YAdav on NEET Paper Leak: MBBS यानी डॉक्टरी की पढ़ाई में प्रवेश के लिए होने वाली देश की सबसे बड़ी परीक्षा NEET का पेपर लीक होने पर बवाल मचा हुआ है. बिहार से भी पेपर लीक संबंधित मामला सामना आया और कई लोगों की गिरफ्तारी भी हुई. दिलचस्प बात ये है कि, बिहार सरकार में डिप्टी सीएम विजय सिन्हा ने ये दावा किया कि, पेपर लीक मामले में तेजस्वी यादव के पर्सनल सेक्रेटरी(PS) प्रीतम कुमार शामिल है. इस मामले में अपने PS प्रीतम कुमार का नाम सामने आने के बाद पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने पहली बार बयान दिया है. तेजस्वी ने कहा हैं कि, अगर उनके PS ने गलती की है तो सरकार को उन्हें गिरफ्तार कर लेना चाहिए, मुझे इससे कोई दिक्कत नहीं है. इसके साथ ही उन्होंने राज्य सरकार पर मुख्य आरोपी को बचाने का भी आरोप भी लगाया है. आइए आपको बताते हैं पूरा मामला. 

'बीजेपी शासित राज्यों में हो रहे है पेपर लीक, किंग-पिंग को चाहते है बचाना'

RJD नेता तेजस्वी यादव ने कहा, 'देश में बीजेपी शासित राज्य है चाहे बिहार हो, गुजरात हो या हरियाणा हो इन तीनों जगह पेपर लीक हुआ है. मैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कहता हूं कि, मेरे सहायक को बुला लें और पूछताछ कर लें. लेकिन उपमुख्यमंत्री जो सवाल उठा रहे हैं, आर्थिक अपराध इकाई(EOU) ने तो इस बात को लेकर आज तक नहीं कहा है. इन लोगों को ज्ञान नहीं है.

उन्होंने आगे कहा, हम मई से आवाज उठा रहे हैं कि कार्रवाई करनी चाहिए. ये लोग  'किंगपिन को बचाना चाहते हैं इसलिए मामले को डाइवर्ट कर रहे हैं. हमको कोई दिक्कत नहीं है लेकिन मेरा नाम घसीटने से कुछ नहीं होगा.' तेजस्वी यादव ने कहा पेपर लीक का मास्टरमाइंड अमित आनंद है उस पर कार्रवाई करनी चाहिए.' इनको क्यों बचाना चाहते हैं? क्यों मुद्दे को भटकाया जा रहा है? कल मनोज झा ने तस्वीर साझा कर दी है. कोई दोषी है तो उसे बुलाकर पूछताछ करें, जो लोग मेरा नाम घसीटना चाहते हैं उससे कोई फायदा होने वाला नहीं है.'

विजय सिन्हा ने लगाया था गंभीर आरोप

डिप्टी सीएम विजय सिन्हा ने बीते दिन कहा था कि, 'तेजस्वी यादव के PS प्रीतम कुमार ने गेस्ट हाउस के कर्मचारी प्रदीप के जरिए मास्टरमाइंड सिकंदर के लिए कमरा बुक करवाया था. उन्होंने आगे कहा था कि, गेस्ट हाउस में जिन लोगों को पकड़ा गया है, वे प्रीतम से जुड़े हुए हैं और प्रीतम पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के पीएस हैं. आपको बता दें कि, प्रीतम कुमार बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हैं. अगस्त 2022 में उन्हें नई पदस्थापना मिली और तेजस्वी यादव का निजी सचिव (सरकारी) बनाया गया. वे बिहार के मुंगेर जिले के रहने वाले हैं.

यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT