लोकसभा चुनाव में OBC वोटर्स ने NDA या INDIA किसे दिया वोट? जानिए क्या कहता है Exit Poll का अनुमान?

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

newstak
social share
google news

OBC Voters in Election 2024: लोकसभा चुनाव के नतीजों के ऐलान से पहले आए एग्जिट पोल ने सभी को चौंका के रख दिया है. लगभग सभी एग्जिट पोल्स में लगातार तीसरी बार मोदी सरकार की वापसी के संकेत दे रहे है. एग्जिट पोल्स बीजेपी-NDA को बंपर सीटें दे रहे है. एग्जिट पोल्स के आए आंकड़ों से ये पता चला है कि, अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) के वोटरों ने 2024 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के NDA गठबंधन के पक्ष में जमकर वोट किया है. आपको बता दें कि, देश का हर तीसरा मतदाता ओबीसी है. 2019 के लोकसभा चुनाव में 56 फीसदी ओबीसी वोटर्स ने NDA को वोट दिया था. 2024 के एग्जिट पोल से पता चलता है कि इस बार चुनाव में NDA को वोट देने वाले ओबीसी वोटर्स की संख्या बढ़कर 58 फीसदी हुई है.

वैसे ओबीसी का वोट शेयर सिर्फ NDA के लिए ही नहीं बढ़ा है. ओबीसी वोटरों ने विपक्षी गठबंधन INDIA ब्लॉक की पार्टियों को भी वोट किया है और INDIA की पार्टियों को मिलने वाले ओबीसी वोट 11 फीसदी बढ़े है. INDIA ब्लॉक के ओबीसी वोट 19 फीसदी से बढ़कर 30 फीसदी हो गए हैं.

अब राज्यों में भी जानिए ओबीसी वोटरों ने किसे किया वोट 

ओबीसी के वर्चस्व वाले राज्यों की राजनीति में से बिहार में एनडीए को यादवों के 10 फीसदी वोट ही मिले हैं जबकि INDIA ब्लॉक को बिहार में ओबीसी के 24 फीसदी वोट मिले हैं. INDIA ब्लॉक को कुल मिलाकर 82 फीसदी यादवों के वोट मिले हैं. महाराष्ट्र में भी NDA को मिलने वाले ओबीसी वोट कम हो सकते हैं. एग्जिट पोल के मुताबिक, इस राज्य में NDA को मिलने वाले ओबीसी वोट सात फीसदी घटे हैं जबकि INDIA ब्लॉक को मिलने वाले यादवों के वोट बढ़े हैं. हालांकि, इस गिरावट के बावजूद NDA 62 फीसदी ओबीसी वोट बटोरने में कामयाब रही है. लेकिन इसके उलट मध्य प्रदेश में ओबीसी वोटों को लेकर अलग ट्रेंड देखने को मिला. यहां NDA को ओबीसी के सात फीसदी वोटों का फायदा होता दिख रहा है जबकि INDIA ब्लॉक को सात फीसदी ओबीसी वोटों का नुकसान उठाना पड़ सकता है. 

कर्नाटक में भी ओबीसी वोट शेयर में बदलाव देखने को मिला है. यहां ओबीसी में वोक्कालिगा का वर्चस्व है. NDA को वोक्कालिगा के 32 फीसदी वोट मिले हैं जबकि INDIA ब्लॉक को 31 फीसदी वोटों का नुकसान उठाना पड़ा है. इसी तरह राजस्थान में जाट ओबीसी ने इस बार NDA के बजाए INDIA ब्लॉक पर भरोसा जताया है. NDA को यहां 24 फीसदी जाट ओबीसी वोटों का नुकसान हुआ है जबकि कांग्रेस की अगुवाई वाले INDIA ब्लॉक को इस समुदाय के 22 फीसदी वोट ज्यादा मिल सकते हैं.  

यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT