Floor Test in Jharkhand: हेमंत सोरेन के CM बनने के बाद विधानसभा में आज होगा फ्लोर टेस्ट, नंबर गेम से समझिए पूरा सिनेरियो

अभिषेक गुप्ता

ADVERTISEMENT

newstak
social share
google news

Floor Test in Jharkhand: हेमंत सोरेन ने 4 जुलाई को तीसरी बार झारखंड के सीएम पद की शपथ ली थी. सीएम बनने के बाद आज विधानसभा में वो अपना बहुमत साबित करेंगे. नंबर गेम के हिसाब से बहुमत साबित करने में हेमंत सोरेन के लिए कोई मुश्किल नहीं होने वाली है. INDIA गठबंधन के पास विधानसभा में बहुमत है और वो इस फ्लोर टेस्ट में आराम से पास हो जाएंगे. आइए आपको बताते हैं झारखंड विधानसभा का पूरा नंबर गेम. 

वैसे आपको बता दें कई, हेमंत सोरेन भूमि घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ED की जांच का सामना कर रहे है. जांच एजेंसी ने उन्हें 31 जनवरी को गिरफ्तार कर लिया था. हालांकि उन्होंने गिरफ्तारी से पहले ही सीएम पद से इस्तीफा दे दिया था और चंपई सोरेन को विधायक डाल का नेता चुना गया था. आपको बता दें कि बीते 28 जून को रांची हाई कोर्ट ने उन्होंने इस मामले में जमानत दे दिया था. जिसके बाद वो जेल से बाहर आए और INDIA ब्लॉक में सर्वसम्मति से मुख्यमंत्री बने. 

अब जानिए झारखंड विधानसभा में क्या है नंबर गेम?

झारखंड विधानसभा में 82 सीटें है 8 निर्वाचित और एक मनोनीत विधायक.  इसमें से 77 सदस्य ही वोटिंग में भाग लेने के लिए एलिजिबल है क्योंकि झारखंड मुक्ति मोर्चा(JMM) के दो, बीजेपी और निर्दलीय एक-एक विधायक निष्काषित है. यानी की विश्वासमत हासिल करने के लिए हेमंत सोरेन को 39 विधायकों का समर्थन चाहिए. INDIA अलायंस में JMM के 25 वहीं कांग्रेस के 17, आरजेडी और सीपीआई एमएल के एक-एक विधायक है. यानी INDIA ब्लॉक के पास 44 विधायकों का समर्थन है. वही दूसरी तरफ NDA के पास बीजेपी के बीजेपी के 23, आजसू के तीन और एनसीपी (एपी) के एक विधायक है. इसके साथ ही निर्दलीय दो और मनोनीत एक विधायक है. विधानसभा में नंबर गेम के हिसाब से तो फ्लोर टेस्ट में हेमंत सोरेन कोई दिक्कत नहीं होने वाली है. 

सोनिया गांधी के कहने पर बने सीएम: सूत्र 

झारखंड में इसी साल विधानसभा के चुनाव होने है. उससे पहले सभी पार्टियां अपने को मजबूत करने में जुटी हुई है. हेमंत सोरेन का सीएम बनना भी इसी बात को दिखाता है. जानकारी के मुताबिक, पिछले दिनों हेमंत सोरेन की मुलाकात सोनिया गांधी से हुई. बातचीत में सोनिया गांधी ने उन्हें जल्द से जल्द सीएम बनने की सलाह दी थी जिससे जनता के मन में अपने नेता के लिए कोई शंका या शिकायत न रहे. 
 

यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT